232

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा, राफेल पर राहुल गाँधी ने देश से झूठ बोला

राफेल का सौदा यूपीए के कार्यकाल में किया गया था, कीमतें उस दौरान तय की गई थीं, एनडीए की सरकार तो उस कीमत से भी कम में राफेल ला रही है. सुप्रीम कोर्ट ने मूल्य और प्रक्रिया दोनों को सही ठहराया है ऐसे में सरकार को दोष देना कहां तक सही है.

यह कहना है वित्त मंत्री अरुण जेटली का. एजेंडा आजतक में पहुंचे जेटली राजदीप सरदेसाई के सवालों का जवाब दे रहे थे. जेटली ने कहा कि राफेल मामले में राहुल गांधी ने झूठ और सफेद झूठ बोला. 

जेटली ने कहा कि इस बात को समझना जरूरी है कि राफेल हमारे लिए क्यों जरूरी है. करगिल युद्ध में हमें शहादत देनी पड़ी क्योंकि दुश्मन ऊंचाई पर बैठा हुआ था और हम बंदूक से वार कर रहे थे. अगर हमारे पास कोई कॉम्बेट प्लेन होता तो हम 2-3 किलोमीटर दूर से मार कर सकते थे जिससे हमारा नुकसान कम हो जाता. कारगिल युद्ध के बाद सेना ने डिमांड की कि हमें कॉम्बेट प्लेन चाहिए.

219

छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री के तौर पर भूपेश बघेल की होगी ताजपोशी

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस का 15 साल का वनवास अब खत्म हो चुका है. पार्टी की इस बड़ी जीत का श्रेय अगर किसी को जाता है तो वो हैं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल. झीरम घाटी हमले के बाद संकट से जूझ रही पार्टी की कमान बघेल ने संभाली थी और अपने आक्रामक तेवर से सत्ता के शीर्ष पर पहुंचाया. इसी का नतीजा है कि सत्ता में वापसी के बाद भूपेश बघेल की मुख्यमंत्री के तौर पर ताजपोशी हो रही है.

राज्य में कांग्रेस की पहली पंक्ति के नेता झीरम घाटी नक्सली हमले में मारे जा चुके थे, जिसमें विद्याचरण शुक्ला, तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार पटेल और महेंद्र कर्मा मुख्य तौर पर शामिल थे. ऐसे में पार्टी में न सिर्फ नेतृत्व का संकट था बल्कि लगातार तीन चुनाव हार चुकी पार्टी हताश थी.

बघेल को जो जिम्मेदारी मिली वो किसी चुनौती से कम न थी. उन्होंने न सिर्फ पार्टी में नई जान फूंकी, बल्कि पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी  और उनके बेटे अमित जोगी को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाने का साहस किया. जब कांग्रेस के बड़े नेता मुख्यमंत्री रमन सिंह के खिलाफ सॉफ्ट रुख अख्तियार किए हुए थे.

218

कमलनाथ ने ली मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ, पूर्व सीएम शिवराज भी रहे मौजूद

मध्य प्रदेश में कांग्रेस के नेता कमलनाथ  ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है. भव्य समारोह में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई.  इस समारोह में कांग्रेस के प्रमुख नेता सहित विपक्षी दलों के नेता भी मौजूद थे.

शपथ ग्रहण समारोह में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, एच.डी.देवगोड़ा, शरद यादव, राकांपा के शरद पवार, चंद्रबाबू नायडू और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी मौजूद थे.

शपथ ग्रहण समारोह जम्बूरी मैदान में हुआ. मध्यप्रदेश विधानसभा के लिए 28 नवंबर को मतदान हुआ था और 11 दिसंबर को आए चुनाव परिणाम में प्रदेश की कुल 230 विधानसभा सीटों में से कांग्रेस को 114 सीटें मिली हैं.

204

उमर अब्दुल्ला ने पुलवामा में 7 पत्थरबाजों मौत को बताया नरसंहार

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों की कार्रवाई में 7 नागरिकों की मौत के बाद स्थिति बेहद तनावपूर्ण है. शाम को राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने आर्मी के ऑपरेशन के बाद घाटी में उपजे माहौल को देखते हुए बैठक की है. राज्य के तमाम सियासी दल भी इस मुद्दे पर लामबंद हो रहे हैं. इधर नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने इस घटना को 'नरसंहार' करार दिया.

अब्दुल्ला ने आरोप लगाया कि राज्यपाल सत्यपाल मलिक के नेतृत्व वाला प्रशासन जम्मू कश्मीर के लोगों की सुरक्षा के लिये कुछ नहीं कर रहा है. अब्दुल्ला ने कहा कि अत्याधिक बल प्रयोग के लिये कोई सफाई नहीं हो सकती और इसे 'नरसंहार' कहना ही ठीक होगा. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, "7 नागरिक मारे गए हैं. इतने अधिक बल प्रयोग के लिये कोई सफाई नहीं आई. अब तक किसी ने भी कुछ नहीं कहा. यह एक नरसंहार है और इसे बस यही कहा जा सकता है.

अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, "7 आम नागरिक मारे गए और कई अन्य जख्मी हैं, कई की हालत नाजुक है. आप चाहे जैसे भी देखें, मुठभेड़ बेहद खराब तरीके से अंजाम दिया गया. मुठभेड़ स्थलों के आस-पास प्रदर्शन अपवाद नहीं बल्कि सामान्य बात हो गई है.

203

राफेल पर कांग्रेस की मांग निर्णय वापस ले सुप्रीमकोर्ट

फ्रांस के साथ हुए राफेल लड़ाकू विमान सौदे पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय पर सियासी घमासान बढ़ता जा रहा है. कांग्रेस ने सरकार की तरफ से अदालत के निर्णय में तथ्यात्मक सुधार करने वाली याचिका जिक्र करते हुए कहा है कि सर्वोच्च न्यायालय को अपना निर्णय वापस लेना चाहिए और झूठे सबूत रखने के लिए सरकार को न्यायालय की अवमानना का नोटिस जारी करना चाहिए.

राज्यसभा में विपक्ष से उपनेता आनंद शर्मा ने कहा कि सु्प्रीम कोर्ट का राफेल पर जो निर्णय आया है वो चर्चा का विषय है. हमने पहले भी यह कहा था कि इस मामले में जांच सिर्फ संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) ही कर सकती है. उन्होंने कहा कि सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय को गुमराह किया जिसके आधार पर यह निर्णय आया.

सरकार ने पहले बताया कि प्राइस की डीटेल कैग को दी जा चुकी है और CAG ने उसकी जांच कर उसे लोक लेखा समिति को दे दिया. PAC  ने भी अपनी संपादित रिपोर्ट संसद को दे दी है. न तो PAC की रिपोर्ट आई, न ही वो PAC के पास गई.