किसानों पर आंसू गैस दाग-टायर पंक्चर कर दिल्ली में एंट्री रोकी

22

अपनी मांगों को पूरी करवाने के लिए हरिद्वार से चला हजारों किसानों का काफिला अब दिल्ली की सरहद तक पहुंच गया है. मंगलवार को भारतीय किसान यूनियन की अगुवाई वाला मार्च गाजियाबाद पहुंचा और यहां पर पुलिस से झड़प हुई.

अन्नदाता पर शक्ति प्रदर्शन, आंसू गैस दाग-टायर पंक्चर कर दिल्ली में एंट्री रोकी यूपी-दिल्ली बॉर्डर पर पुलिस ने यहां पर बैरिकैडिंग कर दी थी, जहां किसान और पुलिस के बीच तीखी झड़प हो गई. इस दौरान पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए पानी की बौछारें की और आंसू गैस के गोले छोड़े.

अन्नदाता पर शक्ति प्रदर्शन, आंसू गैस दाग-टायर पंक्चर कर दिल्ली में एंट्री रोकी मंगलवार दोपहर करीब 12 बजे गाजीपुर बॉर्डर पर हालात लगातार बिगड़ते ही गए. हजारों किसानों ने जब यहां बैरिकैडिंग तोड़ दिल्ली की ओर आने की कोशिश की, तो पुलिस ने बल प्रयोग शुरू कर दिया.

अन्नदाता पर शक्ति प्रदर्शन, आंसू गैस दाग-टायर पंक्चर कर दिल्ली में एंट्री रोकी इस दौरान पुलिस ने सबसे पहले पानी की बौछारें की, उसके बाद किसानों पर आंसू गैस के गोले छोड़े. अन्नदाता पर शक्ति प्रदर्शन, आंसू गैस दाग-टायर पंक्चर कर दिल्ली में एंट्री रोकी

ये नजारा जल्द ही घमासान में बदल गया, किसानों को रोकने के लिए पुलिस ने किसानों के ट्रैक्टरों के टायरों की हवा निकाल दी और उन्हें पंचर कर दिया. पुलिसवाले लगातार किसानों को रोकने के लिए उनपर पानी की बौछारें मार रहे थे. अन्नदाता पर शक्ति प्रदर्शन, आंसू गैस दाग-टायर पंक्चर कर दिल्ली में एंट्री रोकी.

आपको बता दें कि किसानों के मार्च को देखते हुए गाजीपुर बॉर्डर के आसपास के इलाके में धारा 144 लागू की गई है. अन्नदाता पर शक्ति प्रदर्शन, आंसू गैस दाग-टायर पंक्चर कर दिल्ली में एंट्री रोकी.

एक तरफ जहां पर गाजीपुर बॉर्डर जहां पुलिस और किसानों के बीच संघर्ष चल रहा है. दूसरी तरफ गृहमंत्री राजनाथ सिंह, कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह, कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत किसानों के प्रतिनिधियों से मुलाकात कर रहे हैं. अन्नदाता पर शक्ति प्रदर्शन, आंसू गैस दाग-टायर पंक्चर कर दिल्ली में एंट्री रोकी.

कर्जमाफी और बिजली बिल के दाम करने जैसी मांगों को लेकर किसान क्रांति पदयात्रा 23 सितंबर को हरिद्वार से आरंभ हुई थी. अन्नदाता पर शक्ति प्रदर्शन, आंसू गैस दाग-टायर पंक्चर कर दिल्ली में एंट्री रोकी. जिसके बाद पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर और मेरठ जिलों से गुजरते हुए किसान सोमवार (1 अक्टूबर) को गाजियाबाद तक पहुंच गए. जहां इन किसानों को रोक दिया गया. 

Add comment


Security code
Refresh