चीन के चिंगदाओ पहुंचे PM नरेन्द्र मोदी, SCO शिखर सम्मेलन में लेंगे हिस्सा

1004

प्रधानमंत्री मंत्री नरेंद्र मोदी चीन के चिंगदाओ पहुंच गए हैं. पीएम मोदी यहां होने वाली दो दिवसीय शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे. इस शिखर सम्मेलन से हिस्सा लेने से पहले पीएम मोदी ने कहा है कि देश के पूर्ण सदस्य के तौर पर समूह की पहली बैठक में वह भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करने को लेकर रोमांचित हैं.

मोदी आज चिंगदाओ में एससीओ शिखर सम्मेलन के इतर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय बैठक भी करेंगे. इस बैठक में दोनों नेता करीब एक महीने पहले वुहान में हुई अनौपचारिक बैठक में लिये गए निर्णयों के क्रियान्वयन का जायजा लेंगे. पीएम मोदी शनिवार की सुबह दिल्ली से रवाना हुए थे.

मोदी ने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि एक पूर्ण सदस्य के तौर पर परिषद की हमारी पहली बैठक में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करने को लेकर रोमांचित हूं. प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया कि नौ और 10 जून को एससीओ शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए मैं चीन के चिंगदाओ में रहूंगा. एक पूर्ण सदस्य के तौर पर भारत के लिए यह पहला एससीओ शिखर सम्मेलन होगा. एससीओ देशों के नेताओं के साथ बातचीत होगी और उनके साथ विभिन्न विषयों पर चर्चा करेंगे.

शिखर सम्मेलन में विभिन्न मुद्दों पर चर्चाएं होंगी जिनमें आतंकवाद से मुकाबला, अलगाववाद और अतिवाद से लेकर संपर्क में सहयोग को बढ़ावा देना, वाणिज्य, सीमा शुल्क, विधि, स्वास्थ्य और कृषि, पर्यावरण संरक्षण, आपदा जाखिम कम करना और लोगों के बीच संबंध को मजबूती प्रदान करना शामिल है.

उन्होंने कहा कि एससीओ का पूर्ण सदस्य बनने के बाद पिछले एक वर्ष में इन क्षेत्रों में संगठन और उसके सदस्यों के साथ हमारा संवाद खासा बढ़ा है. मेरा मानना है कि चिंगदाओ शिखर सम्मेलन एससीओ एजेंडा को और समृद्ध करेगा और एससीओ के साथ भारत के सम्पर्क की एक नई शुरुआत होगी.

2001 में स्थापित SCO में वर्तमान में आठ सदस्य हैं जिनमें भारत, कजाखिस्तान, चीन, किर्गिस्तान, पाकिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान शामिल हैं. भारत और पाकिस्तान को पिछले वर्ष एससीओ में शामिल किया गया था.

मोदी ने कहा कि भारत का एससीओ के सदस्य देशों के साथ गहरी मित्रता और बहुआयामी संबंध हैं. एससीओ शिखर सम्मेलन के इतर मुझे अन्य कई नेताओं के साथ मुलाकात करने और विचार साझा करने का मौका मिलेगा जिनमें एससीओ के सदस्य देशों के कई राष्ट्र प्रमुख शामिल होंगे.

Add comment


Security code
Refresh