हरियाणा सरकार ने फिल्म पद्मावत पर लगाया बैन, अब तक कई राज्यों में लग चुका है बैन

15a

 

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत हरियाणा में भी बैन हो गई है. आप को बता दे कि राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश के बाद अब हरियाणा सरकार ने भी फिल्म को बैन कर दिया है. मंगलवार यानि आज हरियाणा कैबिनेट की मीटिंग में ये फैसला हुआ. 

रणवीर, दीपिका, शाहिद कपूर स्टार की ये फिल्म राजपूत समुदाय के विरोध के बाद से विवादों में है. सेंसर बोर्ड से हरी झंडी मिलने के बाद यह फिल्म 25  जनवरी को देशभर में रिलीज होने वाली है. लेकिन फिर भी भंसाली की फिल्म पर संकट नहीं टला है.

बता दे कि गुजरात में विजय रूपाणी सरकार ने भी फिल्म रिलीज की अनुमति नहीं दी है. राजस्थान में वसुंधरा राजे सरकार ने भी फिल्म पर बैन लगा दिया है.

वहीं दूसरी तरफ मुंबई और गोवा में पद्मावत को बैन करने की सिफारिश की गई है. गोवा पुलिस ने टूरिस्ट सीजन का हवाला दिया है. वहीं मुंबई पुलिस ने सिक्योरिटी की बात करते हुए फिल्म को बैन करने की बात की है.

वहीं फिल्म को लेकर करणी सेना का उग्र प्रदर्शन भी थमने का नाम नहीं ले रहा है. हाल ही में मध्यि प्रदेश के रतलाम जिले की एक घटना सामने आई है.

जिसमें फिल्म  के गाने 'घूमर' चलाए जाने के विरोध में तोड़फोड़ की गई. रतलाम के जौरा में सेंट पॉल कॉन्वें्ट स्कू ल में घूमर  गाने पर बच्चें डांस परफॉर्मेंस कर रहे थे. 

इसी दौरान करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने गाने का विरोध करते हुए उत्पाौत मचाना शुरू कर दिया. कार्यकर्ताओं ने कुर्सियां तोड़ दी और साथ में साउंड सिस्टुम को तहस-नहस कर दिया.


बता दें कि संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत तीन भाषाओं तमिल, तेलुगु और हिंदी में रिलीज होगी. सेंसर ने पांच मॉडिफिकेशन के साथ फिल्म को "U/A" सर्टिफिकेट दिया है.  

इस सर्टिफिकेट वाली फ़िल्में नाबालिग बच्चों को अकेले देखने की अनुमति नहीं है. बता दे कि यह देश की पहली ऐसी हिंदी फिल्म होगी जो IMAX 3D हिंदी में रिलीज होगी.

खबर के मुताबिक करणी सेना ने पूरे देश में फिल्म की रिलीज पर आपत्ति जताई है. और धमकी भी दी है कि अगर फिल्म रिलीज हुई तो सिनेमाघरों को जला दिया जाएगा. 

करणी सेना के एक नेता ने यहां तक कहा कि अगर नाम बदलने से कोई चीज बदल जाती है तो हम पेट्रोल को गंगाजल समझकर सिनेमाघरों में छिड़कर आग लगा देंगे. 

Add comment


Security code
Refresh